धारा 137 आईपीसी (IPC Section 137 in Hindi) - मास्टर की उपेक्षा से किसी वाणिज्यिक जलयान पर छुपा हुआ अभित्याजक



धारा 137 का विवरण

भारतीय दंड संहिता की धारा 137 के अनुसार, किसी ऐसे वाणिज्यिक जलयान का, जिस पर 1[भारत सरकार] की सेना, 2[नौसेना या वायुसेना] का कोई अभित्याजक छिपा हुआ हो, मास्टर या भारसाधक व्यक्ति, यद्यपि वे ऐसे छिपने के संबंध में अनभिज्ञ हो, ऐसी शास्ति से दंडनीय होगा जो पांच सौ रुपए से अधिक नहीं होगी, यदि उसे ऐसे छिपने का ज्ञान हो सकता था किंतु केवल इस कारण नहीं हुआ कि ऐसे मास्टर या भारसाधक व्यक्ति के नाते उसके कर्तव्य में कुछ उपेक्षा हुई, या उस जलयान पर अनुशासन का कुछ अभाव था ।


Offence : मास्टर या व्यक्ति की लापरवाही के कारण, मर्चेंट जहाज पर भगोड़ा छुपा हुआ था


Punishment : जुर्माना


Cognizance : गैर - संज्ञेय


Bail : जमानतीय


Triable : कोई भी मजिस्ट्रेट





आईपीसी धारा 137 शुल्कों के लिए सर्व अनुभवी वकील खोजें

IPC धारा 137 पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न


आई. पी. सी. की धारा 137 के तहत क्या अपराध है?

आई. पी. सी. धारा 137 अपराध : मास्टर या व्यक्ति की लापरवाही के कारण, मर्चेंट जहाज पर भगोड़ा छुपा हुआ था


आई. पी. सी. की धारा 137 के मामले की सजा क्या है?

आई. पी. सी. की धारा 137 के मामले में जुर्माना का प्रावधान है।


आई. पी. सी. की धारा 137 संज्ञेय अपराध है या गैर - संज्ञेय अपराध?

आई. पी. सी. की धारा 137 गैर - संज्ञेय है।


आई. पी. सी. की धारा 137 के अपराध के लिए अपने मामले को कैसे दर्ज करें?

आई. पी. सी. की धारा 137 के मामले में बचाव के लिए और अपने आसपास के सबसे अच्छे आपराधिक वकीलों की जानकारी करने के लिए LawRato का उपयोग करें।


आई. पी. सी. की धारा 137 जमानती अपराध है या गैर - जमानती अपराध?

आई. पी. सी. की धारा 137 जमानतीय है।


आई. पी. सी. की धारा 137 के मामले को किस न्यायालय में पेश किया जा सकता है?

आई. पी. सी. की धारा 137 के मामले को कोर्ट कोई भी मजिस्ट्रेट में पेश किया जा सकता है।


लोकप्रिय आईपीसी धारा