आईपीसी की धारा 444 | IPC Section 444 in Hindi (Dhara 444) - सजा और जमानत

धारा 444 आईपीसी (IPC Section 444 in Hindi) - रात्रौ प्रच्छन्न गॄह-अतिचार


विवरण

जो कोई सूर्यास्त के पश्चात् और सूर्योदय से पूर्व प्रच्छन्न गॄह-अतिचार करता है, वह रात्रौ प्रच्छन्न गॄह-अतिचार करता है, यह कहा जाता है ।


आईपीसी धारा 444 शुल्कों के लिए सर्व अनुभवी वकील खोजें

लोकप्रिय आईपीसी धारा