सवाल


मेरा नाम राहुल है मेरी वाइफ प्रेगनेंट थी चेकअप करवाने के लिए मिलिट्री हॉस्पिटल गई थी वहां पर डॉक्टर ने सोनोग्राफी की तो बताया कि आप प्रेग्नेंट तो हो पर बच्चा नहीं दिखाई दे रहा है अतः आप यह टेबलेट लीजिए और 2 हफ्ते बाद वापस चेकअप करवाने तो इन टेबलेट मैसेज दो टेबलेट तो एमएच में मिल गई थी मिलिट्री हॉस्पिटल में मिल गई थी बाकी टेबलेट है उन्होंने वह बाहर से मेडिकल शॉप से ली थी एक सेटरडे को ली थी और एक 24 घंटे बाद लेनी थी संडे को जैसे ही संडे को दूसरी टेबलेट ली उसके बाद मेरी वाइफ को ब्लीडिंग हो गई बिल्डिंग के बाद मेरी वाइफ दूसरे दिन में मिलिट्री हॉस्पिटल चेक कराने डॉक्टर को भाई तो डॉक्टर ने बताया कि यह तो उस मेडिकल शॉप में गलत टेबलेट दे दिए यह तो आपको उसने अबॉर्शन की टेबलेट दे दिए तो अब क्या मुझे उस मेडिकल शॉप वाले पर केस करना चाहिए मेडिकल शॉप से वह बिल नहीं लिए टेबलेट के साथ बिल लेना था वह नहीं लिया है तो मैं यह जानना चाहता हूं कि क्या मेरे को यह केस करना चाहिए

उत्तर (1)


गलत दवा देने के लिए मेडिकल नेगलिजेंस केस बनता है लेकिन आपको यह साबित करना होगा कि यह दवा उसी मेडिकल स्टोर से ली गई है इसके लिए दवा का पर्चा तथा तथा दुकान की रसीद जरूरी है
आपके पास दवा खरीदने के बाद उस दुकानदार से कोई रसीद नहीं ली गई है दुकानदार को जिम्मेदार ठहराने का कोई सबूत इस समयआपके पास नहीं है
यद्यपि आप मुकदमा तो शुरुआत कर ही सकते हैं प्रथम
सूचना रिपोर्ट लिखा समय आप इस बात का जिक्र कर दे कि दुकानदार ने आपको जानबूझकर गलत दवा दी है पुलिस जांच के दौरान का पता स्वयं लगाएगी कि इस केस में असली गलती किसकी थी

भारत के अनुभवी सिविल वकीलों से सलाह पाए

अस्वीकरण: उपर्युक्त सवाल और इसकी प्रतिक्रिया किसी भी तरह से कानूनी राय नहीं है क्योंकि यह LawRato.com पर सवाल पोस्ट करने वाले व्यक्ति द्वारा साझा की गई जानकारी पर आधारित है और LawRato.com में सिविल वकीलों में से एक द्वारा जवाब दिया गया है विशिष्ट तथ्यों और विवरणों को संबोधित करें। आप LawRato.com के वकीलों में से किसी एक से प्रतिक्रिया प्राप्त करने के लिए अपने तथ्यों और विवरणों के आधार पर अपनी विशिष्ट सवाल पोस्ट कर सकते हैं या अपनी सवाल के विस्तार के लिए अपनी पसंद के वकील के साथ एक विस्तृत परामर्श बुक कर सकते हैं।


इसी तरह के प्रश्न



संबंधित आलेख