सवाल


बद्रीलाल मीणा s/o हठ्ठीला मीणा की 6बीघा 16 बिस्वा जमीन अपराधी ने जबरन कब्जा कर रखा है जिसका किसी प्रकार का कोई खरीद फरोक्त का प्रमाण नही है ।उस पर बोई गई सोयाबीन कास्त को भी जबरन जोत दिया है।पुलिस कोई for नही लिख रही है और पहले RRO के फैसले पर पटवारी ने पैमाइस रिपोर्ट भी दे दी है परन्तु अभी तक कोई कार्यवाही नही हुई है ? क्या सोयाबीन फसल नष्ट करने की और जबरन कब्जै छुडवाने लिये fir के लिये क्या प्रावधान है?? इसमें पुलिस क्या सहायता कर सकती है? क्या एक बार RRO फैसले के बाद बार बार कोर्ट की शरण मे जाना पडेगा? फिर से कोर्ट मे जायें तो criminal court मे जायें या SDM court मे जायें? कोर्ट से कितने दिनों मे निपटारा होगा? पुलिस कार्यवाही अब कहाँ और कैसे की जाये??

उत्तर (1)


अगर बैनामा आपके नाम है उस जमीन पर कोई भी व्यक्ति अपनी फसल नहीं कर सकता ! अगर किसी व्यक्ति ने आप की जमीन पर जबरन फसल उगाई है उस फसल पर न्यायालय द्वारा रोक लगाई जा सकती है उचित कार्रवाई के लिए अपने वरिष्ठ अधिकारियों के नाम से विपक्षी दलों के विरुद्ध एफ आई आर

दर्ज करानी पड़ेगी तब न्यायालय में जाकर कार्रवाई कर सकती हैं तभी आप को न्याय मिलेगा !

भारत के अनुभवी अपराधिक वकीलों से सलाह पाए

अस्वीकरण: उपर्युक्त सवाल और इसकी प्रतिक्रिया किसी भी तरह से कानूनी राय नहीं है क्योंकि यह LawRato.com पर सवाल पोस्ट करने वाले व्यक्ति द्वारा साझा की गई जानकारी पर आधारित है और LawRato.com में अपराधिक वकीलों में से एक द्वारा जवाब दिया गया है विशिष्ट तथ्यों और विवरणों को संबोधित करें। आप LawRato.com के वकीलों में से किसी एक से प्रतिक्रिया प्राप्त करने के लिए अपने तथ्यों और विवरणों के आधार पर अपनी विशिष्ट सवाल पोस्ट कर सकते हैं या अपनी सवाल के विस्तार के लिए अपनी पसंद के वकील के साथ एक विस्तृत परामर्श बुक कर सकते हैं।


इसी तरह के प्रश्न



संबंधित आलेख