एडवोकेट नीलकांत हिंगराज गोस्वामी : ढोबी अली, थाणे - LawRato
थाणे में सबसे अच्छे वकीलों में से एक -एडवोकेट नीलकांत हिंगराज गोस्वामी

एडवोकेट नीलकांत हिंगराज गोस्वामी

प्रमाणित
4.3 | 10+ रेटिंग
ढोबी अली, थाणे
13 साल
कानूनी विशेषता:
सिविल + 3 और
एडवोकेट नीलकांत हिंगराज गोस्वामी एक परिणाम उन्मुख दृष्टिकोण के साथ स्वतंत्र रूप से कानूनी मामलों का अभ्यास और संचालन कर रहे हैं, पेशेवर और नैतिक दोनों रूप से,
और अब कानूनी परामर्श और सलाहकार सेवाएं प्रदान करने में 13 वर्षों के पेशेवर अनुभव का अधिग्रहण किया है| एडवोकेट नीलकांत हिंगराज गोस्वामी का कार्यालय ढोबी अली, थाणे में है|
विशेषज्ञता
  • डाइवोर्स / तलाक,
  • तलाक के नोटिस का जवाब,
  • तलाक का विरोध,
  • दहेज़ / मार-पीट / उत्पीड़न,
  • जीविका / खर्चे की मांग,
  • बच्चो का संरक्षण,
  • अफेयर / चीटींग,
  • मुस्लिम विवाह सम्बंधित,
  • कोर्ट मेर्रिज / रजिस्ट्रेशन,
  • पति - पत्नी में झगडे,
  • ससुराल में परेशानी,
  • प्रॉपर्टी चेक / पुष्टिकरण,
  • फॅमिली प्रॉपर्टी में झगड़ा,
  • पुष्तैनी प्रॉपर्टी का ट्रांसफर,
  • गैरकानूनी कब्ज़ा,
  • गैरकानूनी निर्माण,
  • किरायेदार सम्बंधित,
  • बिल्डर द्वारा धोका,
  • ट्रांसफर / नाम बदलाव,
  • प्रॉपर्टी तोहफा सम्बंधित,
  • नगर पालिका सम्बंधित,
  • पड़ोसी से झगड़ा,
  • तलाक / विवाह सम्बंधित,
  • सम्पति की विरासत,
  • उत्तराधिकारी सर्टिफिकेट,
  • पुश्तैनी ज़मीन का बटवारा,
  • पारिवारिक झगड़ा,
  • वसीयत सम्बंधित,
  • सम्पति का तोहफा,
  • गोद लेना / दत्तक-ग्रहण,
  • उधार की वसूली,
  • लोन सम्बंधित,
  • क्रेडिट कार्ड सम्बंधित,
  • ऑनलाइन पेमेंट सम्बंधित,
  • ATM सम्बंधित,
  • बैंक सम्बंधित,
  • तनखाह ना मिलना,
  • लीगल नोटिस का जवाब,
  • तनखाह ना मिलना / देरी,
  • नौकरी से निकाला जाना,
  • प्रमोशन / पेंशन सम्बंधित,
  • छेड़छाड़ / उत्पीड़न,
  • सरकारी नौकरी सम्बंधित,
  • सरकारी नौकरी सम्बंधित,
  • प्रोविडेंट फण्ड (PF) सम्बंधित,
  • वारंट के लिए वकील,
  • नाजायज़ हिरासत,
  • बैल एप्लीकेशन,
  • छेड़छाड़ / उत्पीड़न,
  • FIR दर्ज करना / कैंसिल करना,
  • नशा करने पर हिरासत,
  • धमकी देना/ चोट पोहचाना,
  • धन सम्बंधित,
  • चोरी / डकैती,
  • मानहानी,
  • मर्डर / क़त्ल सम्बंधित,
  • ड्रग्स सम्बंधित,
  • भ्रष्टाचार,
  • बच्चो का उत्पीड़न,
  • खराब सामान / खराब सर्विस,
  • धोका / जालसाज़ी,
  • रिफंड / पैसा वापसी,
  • सामान के गलत दावे,
  • एक्सीडेंट का मुआवज़ा,
  • बीमा / इन्शुरन्स मुआवज़ा,
  • पैसे के वसूली,
  • कॉन्ट्रैक्ट तोडना,
  • कॉन्ट्रैक्ट बनाना/ चेक करना,
  • लेबर कोर्ट सम्बंधित,
  • कंस्यूमर कोर्ट केस,
  • यौन उत्पीड़न,
  • स्टार्टअप सम्बंधित,
  • लाइसेंस सम्बंधित,
  • कंपनी हिस्सेदारी सम्बंधित,
  • PIL फाइल करना,
  • तलाक/ विवाह सम्बंधित,
  • प्रॉपर्टी सम्बंधित,
  • चेक बाउंस,
  • बिल्डर द्वारा धोका,
  • पारिवारिक समस्या,
  • सहमति से तलाक,
  • मुस्लिम प्रॉपर्टी सम्बंधित,
  • रेरा,
  • एनआरआई संपत्ति मुद्दा,
  • केंद्रीय प्रशासनिक न्यायाधिकरण (CAT),
  • एनसीएलटी / एनसीएलएटी में शिकायत,
  • स्थानांतरण याचिका,
  • एनआरआई तलाक,
  • ,
  • ,
  • ,

एडवोकेट नीलकांत हिंगराज गोस्वामी से सलाह लें

आपका नाम*
आपका फ़ोन नंबर*
आपका ईमेल

Reviews (4)

H
Harita - Verified Client
Consulting done, we have met the lawyer once for advice.
Dec 12
K
ketan - Verified Client
The consultation was very fruitful and informative.
Aug 30
DP
Darshan P - Verified Client
We wish to initiate a second opinion from an advocate who practices at the high courts and understands Legal Guardianship laws, process as well as well as how to deal property related issues in Kerala.
May 26
R
Rinku Katoch - Verified Client
Neelkanth Goswami couldnt speak more than 5 seconds in front of judge where the case was simple false 498 which even SC has agreed that more than 80% are false with guidelines laid down for outstation and senior citizens family exemption. He boasted how much opposite party lawyer spoke but had not argument to defend his own client on false charges. Hes went on to take orders which wrongly spelt names of his client and had seriously wrong information convicting his clients. It clearly shows how willing was he to defend his own client and how observant he was on prosecutions charges. Lawrato only acted as a middleman and the job they did was to fix a lawyer for you like secretary book appointments. You are left to mercy of lawyers and no guidance in provided to the client. Lawrato has no guidelines or set of rules(which even Uber or Ola has as aggrigator) which they can impose on lawyers aligned to them. This was horrific experience with lawrato and Neelkath Goswami who has spoiled a criminal case for me and my family which i m trying hard to defend cause of initial mistakes done by lawyer.
Jan 01
Read 3 More Reviews